Sad shayari in Hindi

             Very Heart Touching 



बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का,
अधूरी हो सकती है मगर खत्म नहीं।

किसी ने कहा.. लिखते जा रहे हो साहब
मोहब्बत हो गई है... या ... खो गई है।



ऐ कलम जरा रुक रुक कर चल, 
क्या गजब का मुकाम आया हैं। 
थोड़ी देर ठहर जा उसे दर्द ना हो, 
तेरी नोंक के नीचे उसका नाम आया हैं।

चलो मान लिया मुझे मोहब्बत करनी नही आती,
लेकिन ज़रा ये तो बताओ तुम्हें दिल तोड़ना किसने सिखाया।

सोचते थे नहीं रह पाएँगे तेरे बगैर,
पर देखो.. तुमने ये भी सिखा दिया।

तुम ताल्लुक़ तोड़ने की बात किसी से ना करना 

हम लोगों से कह देंगे उन्हें फ़ुरसत नहीं मिलती

जादा मनाने वाले लोग कभी कभी खुद में बहुत 
गिरा हुआ सा महसूस करने लगते है।

हाथ छोड़े बगैर साथ छोड़ा उसने,,! 

ज़ुदाई कुछ ऐसी भी देखी हमने,,!

मोहब्बत में मुझसे सलाह माँगते है लोग, 
ये तेरा इश्क मुझे तजुर्बा ही इतना दे गया !!

कभी इसका दिल रखा और कभी उसका दिल रखा,
इसी कशमकश में भूल गए खुद का दिल कहाँ रखा।

मैं क्यूँ कुछ सोच कर अपना दिल छोटा करूँ,
वो उतनी ही कर सकी वफ़ा जितनी उसकी औकात थी।


ग़म हूँ, दर्द हूँ, साज़ हूँ, या आवाज़ हूँ,
बस जो भी हूँ तुम बिन बहुत उदास हूँ।

ख़्वाहिश तो न थी किसी से दिल लगाने की,
पर किस्मत में दर्द लिखा था तो मोहब्बत कैसे न होती।

मैने तो हमेशा ही तुझसे मोहब्बत की है 
तेरे ना मानने से हकीकत नहीँ बदलेगी

तारीख हज़ार साल में बस इतनी सी बदली है,
तब दौर पत्थर का था अब लोग पत्थर के हैं।


हम तो बेवजह ही करते रहे रौशनी की तलाश,
रात दिये के सहारे कट सकती थी मालूम ना था।


बहुत आसान था, तेरी सूरत को भूल जाना,
मुश्किल तो तब हुई, जब तेरा मिजाज याद आया।


इश्क़ में हमने वही किया जो फूल करते हैं बहारों में,

खामोशी से खिले महके और फिर बिखर गए।

मिल जायेगा हमें भी कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा नहीं हो सकता।

जब-जब मुझे लगा मैं तेरे लिए खास हूँ,
तेरी बेरुखी ने ये समझा दिया मैं झूठी आस में हूँ।

मेरी नाराज़गी का कोई वजूद नहीं है किसी के लिए,
मुझ जैसे लोग अक्सर यूँ ही भुला दिए जाते हैं कभी-कभी।


ये ☝तो #समय_का ⏱ फेर था, वरना #मोहब्बत ❤ तो मेरी भी #सच्ची_थी , 

#इश्क के #बंधन_में‌ लाख #बांधना चाहा, लेकिन #किस्मत की डोर ही #कच्ची_थी


.किसी का दिल दुखाना समुद्र में फेंके गए पत्थर के समान है। 
वो पत्थर अंदर कितना गहरा जायेगा, 
इसका अंदाजा लगाना मुश्किल होता है..

लग गयी बद्दुआ हमें गुलाबों की.. 
जिनको हमने तुम्हारी खातिर तोडा था..

हमने सोचा था की बताएँगे सब दुःख दर्द तुमको,
पर तुमने तो इतना भी ना पूछा की खामोश क्यूँ हो।

मिलें न मिलें अब के इस उम्र में हम,
फ़ासले इतने तो नहीं कि तुम्हें दुआएँ भी न दे सकें।

इश्तहार दो के ये दिल खाली है,
वो जो आये थे किरायेदार निकले।

जो मिलते हैं वो बिछड़ते भी हैं हम नादान थे,
एक शाम की मुलाकात को इश्क़ समझ बैठे।

तबाह कर डाला तेरी आँखों की मस्ती ने 
हजार साल जी लेते अगर दीदार ना किया होता तो

मत करवाना मोहब्बत हर किसी को ए खुदा ! 
हर किसी में जीते जी मरने की ताक़त नही होती

कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता, 
हमारी हालत तुम्हारी होती, 
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर, 
वो रात तुमने गुज़ारी होती।😢 😭

ज़िंदा हैं तो बस ❝ तेरे ❞ इश्क़ के रहमो-करम पर, 
मर गए तो समझ लेना तेरी ❝ बेवफ़ाई ❞ में दम था..!

हमको अब हसरत नहीं रही किसी को पाने की... 
अब तो बस चाहत है मोहब्बत को भूल जाने की.

बदलते इंसानों की बात मुझसे ना पूछो . 
मैंने अपने हमदर्द को "दर्द बनते देखा है ..

दिलों में खोट है ज़ुबां से प्यार करते हैं💔💔 
बहुत से लोग दुनिया में यही व्यापार करते हैं।

सब कुछ पा लिया तुमसे इश्क करके,
बस कुछ रह गया तो वो तुम ही थे।

दिल की उम्मीदों का हौंसला तो देखो,
इंतजार उसका जिस को अहसास तक नहीं।

लिख चुका हूँ मैं तेरे लिए एहसास बहुत सारे,
फिर भी जितना तुझे चाहा कभी लिख नहीं पाया।

वफ़ा सबको मिली दुनिया में हमारे सिवा,
हमें जब भी प्यार हुआ बेकदरों से हुआ।

पता है तकलीफ क्या है किसी को चाहना,
फिर उसे खो देना और खामोश हो जाना।

ना आवाज हुई ना तमाशा हुआ,
बड़ी ख़ामोशी से टूट गया एक भरोसा जो तुझ पर था।

तुम दोस्ती को मोहब्बत में बदलना चाहते थे
देखा इस मोहब्बत ने हमें दूर कर दिया।

जो मशहूर हुए सिर्फ उन्होंने ही तो मोहब्बत नहीं की,
कुछ लोग चुपचाप भी तो क़त्ल हुए है मोहब्बत के हाथो।

ना चाहते हुए भी साथ छोड़ना पड़ता है.. जनाब,
मज़बूरी मोहब्बत से ज्यादा ताकतवर होती है।

सिमट गया मेरा प्यार...चंद अल्फाजों मे.. 

जब उसने कहा... मोहब्बत तो है पर..तुमसे नहीं..

जले हैं तेरे इश्क में इस कदर...... 

दुनिया को न धुआं दिखा न राख दिखी....

आसान नही है उस शख्स को समझना... 
जो जानता सब कुछ है पर बोलता कुछ भी नही.

क़यामत के रोज़ फ़रिश्तों ने जब माँगा उससे ज़िन्दगी का हिसाब, 
ख़ुदा, खुद मुस्कुरा के बोला, जाने दो, �मोहब्बत� की है इसने.

इरादा कत्ल का था तो ~मेरा सर कलम कर देते, 
क्यू इश्क मे डाल कर तुने ~हर साँस पर मौत लिख दी

रुखसत ऐ यार का मंज़र भी किया मंज़र था,
यारो हमने खुद को खुद से बिछड़ते हुए देखा।

कभी-कभी हाथ छुड़ाने की ज़रूरत नहीं होती,
कुछ लोग तो साथ रह कर भी बिछड़ जाते हैं।

मेरे दिल से खेल तो रहे हो तुम पर जरा सम्भल के, 
ये थोडा टूटा हुआ है कहीं तुम्हे ही लग ना जाए.

निकलते आँसुओं को देखकर सोचती हैं आँखें, 
आखिर और कितना वक़्त लगेगा सारे ख्वाबों को बहने में

वक़्त आने पर करवा देंगे हदों का एहसास, 
कुछ तालाब खुद को समुंद्र समझ बैठे है !!

मोहब्बत तभी करो जब निभा सको 

फिर मजबूरियों का बहाना बनाकर 

छोड़ना वफादारी नहीं होती,,,,,,

बर्बाद तो #IshQ ने किया है मुझे, 
इल्जाम "मोबाइल" पर लग जाये तो अच्छा है

अगर दर्द भरे गाने सुनकर भी आपको दर्द ना हो 
तो समझ लो आप दोबारा 
प्यार करने के लिए तैयार हो चुके हो..


जिस जिस ने मुहब्बत में, 
अपने महबूब को खुदा कर दिया, 

खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए, 
उनको जुदा कर दिया.

#ये ☝तो #समय_का ⏱ फेर था, वरना #मोहब्बत ❤ तो मेरी भी #सच्ची_थी , 
#इश्क के #बंधन_में‌ लाख #बांधना चाहा, लेकिन #किस्मत की डोर ही #कच्ची_थी

अगर कोई इन्सान बहुत सोता है , 
तो अंदर से 
वो बहुत उदास है....

किसी ने धूल क्या झोंकी आखों में, 
पहले से बेहतर दिखने लगा है.. 

खुद को माफ़ नहीं कर पाओगे, 
जिस दिन जिंदगी में हमारी कमी पाओगे



0 Response to "Sad shayari in Hindi "

Post a Comment

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel